वर्डकैंप नागपुर -डायमंड जंक्शन यूजर ,डेवलपर और सर्विस प्रोवाइडर्स का !

“तेरा तुझको सौंप दे क्या लागत है मोर

मेरा मुझमे कुछ नाहीं जो होवत सो तोर”

इसी भाव के साथ मैंने वर्डकैम्प नागपुर में स्पीकर और वालंटियर के लिए अर्ज़ी दी थी और किस्मत से वो स्वीकार भी हो गयी | अपना श्रम दान करने के लिए हमे नागपुर 20 को शाम में पहुंचना था पर भारतीय रेल तो अभी भी प्रभु भरोसे ही चल रही है | जब तक हम गंतव्य पहुंचे तो सबका काम बंट चुका था और मेरी ड्यूटी थी आप सब तक सोशल मीडिया के माध्यम से इवेंट के खूबसूरत और ज्ञानवर्धक पल शेयर करने की | आप सभी @WcNagpur #WcNagpur और मेरे हैंडल @digitalgauravdm से फेसबुक,इंस्टाग्राम और ट्विटर पर फोटो और वीडियो देख सकते हैं |

wordcamp nagpur

 इवेंट सिविल लाइन के चिटनविस सेंटर में था और सभी वालंटियर्स को पहले पहुंच कर सब व्यवस्था दुरुस्त करनी थी | जब मै पंहुचा तो कुछ लोग लेटे हुए आराम कर रहे थे ,बाद में पता चला की योग क्लास चल रही थी |हम हाल  में पहुंच कर सभी गतिविधियों की जानकारी लेने लगे और साथ ही कुछ लोगों के साथ बात करने का मौका भी मिला |अपने कुछ ब्लॉग रीडर्स से भी पहली बार मिला |मिल कर हार्दिक ख़ुशी हुई |

खुशमिजाज़ मौसम , गरमा गरम पोहा ,घुंगरी और सेव के साथ ही चाय कॉफ़ी कुकीज़ का भरपूर आनंद लिया |फिर सोशल मीडिया टीम एक जगह मिली और सब को ड्यूटी सौंप दी गयी |

कार्यक्रम की शुरुवात त्रिपद (@_tripad ) जी ने की |सभी का स्वागत हुवा और दिन भर की रूपरेखा से अवगत कराया | स्पोंसर्स को धन्यवाद दिया और फिर शुरू हुई रेस | जी हाँ एक छोटी सी एक्टिविटी सभी को चार्ज करने के लिए जिसमे आपको अपनी कार्य दक्षता के हिसाब से एक कोने से दूसरी दिशा में बढ़ना था |

आगे का कार्यक्रम 3 भाग में बँटा था |

ट्रैक 1 में पहला सेशन लिया आसिफ रेहमान (@asif2bd ) जी ने |उन्होंने बताया कैसे हम वर्डप्रेस की सहायता से अपने ईकॉमर्स स्टोर को अगले स्तर तक ले जा सकते हैं |उन्होंने ईकॉमर्स ,पेड मीडिया ,सोशल मीडिया ,कंटेंट मार्केटिंग, चैट बोट और मशीन लर्निंग द्वारा सेल्स बढ़ाने के तरीके बताये |

ट्रैक 2 में संयोग शेलार (@sanyog ) जी ने बताया कैसे एक ब्लॉगर अपनी वेबसाइट की स्पीड को ऑप्टिमाइज़ कर सकता है | उन्होंने कुछ सरल टिप्स बताई ,यूजर एक्सपीरियंस के पीछे का मनोभाव के बारे में और इन सब का कैसे अभ्यास करना है |

ट्रैक 3 में BOF -बर्ड ऑफ़ फेदर सेशन था ,यह एक खुला मंच था जहाँ पर कोई भी स्पीकर नहीं था सब लोग आपस में ही एक विषय पर चर्चा कर रहे थे और चर्चा का विषय था -क्या ये भी वर्डप्रेस के साथ किया जा सकता है | सभी ने सक्रीय भागीदारी निभाई और और कुछ धुरंधरों , जैसे अमित जी (@thecancerus ), त्रिपद जी और विशाल देशपांडे (@vishaldeshpande )जी  के एक्सपीरियंस का पूरा फायदा उठाया |

कार्यक्रम आगे बढ़ा और 11 :30 पर दूसरे वक्ता स्टेज पर सुसज्जित थे |

ट्रैक 1  पर हरदीप असरानी (@HardeepAsrani ) जी ने बताया गुटेनबर्ग का प्रयोग करने के लिए आपको कौन कौन से उपलब्ध प्लगइन लेने होंगे | उन्होंने गुटेनबर्ग जो की वर्डप्रेस का भविष्य हैं उसमे प्रयोग करने वाले API और कैसे हम अपने प्लगिन्स को गुटेनबर्ग आधारित बना सकते हैं के बारे में बताया |

ट्रैक 2  पर थी अंजू अभिलाष (@anjuabhilash02 ) जी और उनका विषय था -अपनी टारगेट ऑडियंस की समझ को सुधारने की गाइड | उन्होंने टारगेट ऑडियंस के विषय में विस्तृत जानकारी दी |कैसे आइडियल कस्टमर को पहचाना जाये और उनके क्या दर्द हैं,समस्या है जो आप सोल्व कर सकते हैं |

ट्रैक 3 पर मै यानि गौरव श्रीवास्तव (@digitalgauravdm ) स्वयं मोर्चा संभल रहा था और मेरा विषय था मल्टीलिंगुअल वेबसाइट के बारे में | मैंने बताया की बहुभाषी वेबसाइट क्या होती है | क्या उनकी जरुरत है ? अगर हाँ तो कैसे बहुभाषी वेबसाइट बनायीं जा सकती है और ऐसी वेबसाइट बनाते समय क्या करे और क्या न करें | इस विषय पर एक विस्तृत ब्लॉग जल्द ही आप लोगों के समक्ष प्रस्तुत करूँगा |

समय का पहिया आगे घूमा और और दूसरा घंटा भी समाप्त हुवा |

12 :30 पर ट्रैक 1 पर आये विक्रमादित्य देव (@Lexponent)जी जिन्होंने लीगल पेज को सिम्प्लीफाई करने पर अपना ज्ञान साझा किया | उन्होंने बताया की प्राइवेसी पालिसी ,डिस्क्लेमर ,टर्म्स ऑफ़ सर्विस आदि कानूनी पेज वेबसाइट डिज़ाइन करते टाइम भले ही अधिक ध्यान नहीं आकर्षित करते लेकिन इनका बिज़नेस में बहुत अहम रोल होता है | उन पेज में क्या लिखा होता है और उनका क्या महत्त्व होता है ये आसान भाषा में समझाया गया |

ट्रैक 2  में किशोर साहू (kish2011 _) जी ने सेशन लिया माइक्रो सर्विस  आर्किटेक्चर  इन वर्डप्रेस पर |उन्होंने बताया कैसे किसी बहरी API को अपनी वर्डप्रेस वेबसाइट के साथ जोड़ सकते हैं |डीकपल्ड वर्डप्रेस वेबसाइट कैसे बनाते हैं ? माइक्रो सर्विस के नफा- नुकसान क्या हैं |

ट्रैक 3 में एक बार फिर महफ़िल सजी खुले मंच की ,इस बार BoF का विषय था इन्फ्लुएंसर मार्केटिंग और सभी ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया |

बहार निकले तो भोजन तैयार था |महाराष्ट्र का मिर्च के प्रति प्रेम साफ़ झलक रहा था | सौभाग्य से मराठी भोजन और गुलाब जामुन लेने के बाद सभी से बातचीत शुरू की और वर्डकैंप के बारे में लोगों की प्रतिक्रिया ली |

पेट पूजा के बाद फिर से टॉक सेशन चालू हुवे | ट्रैक 1 में 2 :30 पर सेशन चला की नागपुर में वर्डप्रेस एजेंसी कैसे काम करती हैं | को वर्कप्लेस, रिमोट वर्किंग ,एम्प्लोयी को उसकी पसंद के घंटे और पसंद का काम करने की आजादी देने पर जोर दिया गया |

ट्रैक 2  में सेशन होना था सोलोप्रेनेउर अपने फाइनेंस और लीगल से जुड़े मुद्दे कैसे सुलझा सकते हैं लेकिन वक्ता के अस्वस्थ होने के कारन हमे वह सेशन रद्द करना पड़ा | हम उनकी कुशलता की कामना करते हैं |

ट्रैक 3 में सेशन चल रहा था वर्डप्रेस बैकप्श, डिजास्टर मैनेजमेंट एंड रिकवरी | यह सेशन विशाल देशपांडे (@vishaldeshpande ) जी ने लिया |उन्होंने बताया क्यों बैकअप लेना चाहिए | बैक अप का 3  लेयर प्लान क्या होता है और उसे कैसे लागू किया जा सकता है |

3 :30 में नए सेशन और नए  स्पीकर्स ने शुरुवात की |पहले ट्रैक पर वचन कुदमुळे (@dezineninja ) जी जिनका विषय था IoT और वूकॉमर्स को एक साथ कैसे प्रयोग कर सकते हैं |उन्होंने बताया मोबाइल एप्लीकेशन के बाद इंटरनेट ऑफ़ थिंग नयी क्रांति है |वूकॉमर्स API के साथ हम कैसी रियल टाइम काम कर सकते हैं |

ट्रैक 2 में स्पीकर थे मारुती मोहंती (maruti _mohanty )जी | वो GiveWP में हैप्पीनेस इंजीनियर हैं और एक खुशमिजाज़ व्यक्तित्व के धनी हैं | उन्होंने बताया कैसे कस्टमर सपोर्ट एक अंडर रेटेड प्रोफाइल बन के रह गया है लेकिन यह कितना आवश्यक है | कस्टमर की मनोदशा को समझ कर हम कैसे बेहतर सुझाव दे सकते हैं |

ट्रैक 3 में यशवर्धन राणा (@RanaYashwardhan ) जी ने GDPR की समस्या से भारत में कैसे निपटा जाये बखूबी बताया |उन्होंने बताया की यह भ्रम बना हुआ है की GDPR सिर्फ यूरोपियन देशों के लिए है लेकिन यह सभी देशो में लागू होता है |आप अपने यूजर के डाटा के साथ खिलवाड़ नहीं कर सकते | उनके डाटा की सुरक्षा आपकी जिम्मेदारी है |

आखरी स्पीकर सेशन चालू हुवा 4 :30 पर , ट्रैक 1 पर साहिल मजीठिया (@TechySahil ) जी ने A /B टेस्टिंग के बारे में बताया | ये क्या चीज है ? क्यों एक्सपेरिमेंट करना चाहिए ?इसके फायदे और टेस्टिंग सफलतापूर्वक करने का कायदा क्या है ? कौन से टूल आपके लिए जरुरी है ?

ट्रैक 2 में सेशन ध्रुव पंड्या (dhruvpandyadp ) ने लिया | उन्होंने अपनी वेबसाइट को भविष्य के लिए कैसे तैयार करना है यह बताया | AMP  यानि एक्सेलरेटेड मोबाइल पेज ,मोबाइल फ्रेंडली वेबसाइट बनाने की तकनीक और PWA यानि प्रोग्रेसिव वेब ऐप के बारे में बताया | ईकॉमर्स के साथ इनको कैसे जोड़ सकते हैं | SEO के लिए ये कैसे फायदा करेंगे |

ट्रैक 3 में लास्ट BoF सेशन था ओपन सोर्स मेन्टल इलनेस का | इसमें सभी ने चर्चा की टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में हम कैसे मेन्टल हेल्थ बेहतर कर सकते हैं |डिप्रेशन जैसी बिमारियों से कैसे लड़ा जा सकता है |वर्कप्लेस में वेलनेस प्रोग्राम के बारे में एक दूसरे ने सुझाव दिए |

अंत में सभी ने एक दूसरे के साथ फोटो खींच कर कुछ पल कैमरे में उतारे |

स्पीकर ,स्पांसर ,वालंटियर और आगंतुकों को धन्यवाद के साथ विदा किया गया |

आफ्टर पार्टी में सभी के साथ स्वादिस्ट भोजन और कई विषयों पर वार्तालाप काफी सफल रही |

अगले दिन था कंट्रीब्यूटर डे – जिसका जो सामर्थ था वैसा उसने वर्डप्रेस कम्युनिटी को वापस देने की कोशिश करी | किसी ने ट्रांस्लेशन कर के, किसी ने कोड कर के ,किसी ने कोड सुधर कर के ,किसी ने प्लगइन डिज़ाइन कर के | वर्डकैंप में लोगों का क्या एक्सपीरियंस रहता है और वो क्यों आना चाहते हैं इस पर गहन चर्चा हुई | शाम में कुछ साथी बंधुओं के साथ नागपुर घूमने गए ,नागपुरिया ऑरेंज मिठाई ली ,डिनर हुवा चर्चा हुई और फिर सब अपने अपने गंतव्य को चल दिए इस वादे के साथ की दुबारा जल्द ही मिलेंगे फिर किसी वर्डकैंप में | मै तो वर्डकैंप कानपुर 12 अगस्त को आ रहा हूँ और आप |

पढ़ने के लिए धन्यवाद अगर आपने भी वर्डकैंप नागपुर अटेंड किया तो अपना तजुर्बा हमारे साथ साझा करें |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *