Posted on

वेबसाइट कैसे काम करती है!

How website work

—वेबसाइटों के काम के बारे में हमारे पाठ  में आपका स्वागत है हम मूल बातें नीचे बताएंगे  – बिना तकनीकी के, वादा! – वेब सर्वर और डोमेन नामों पर, वे आपके लिए क्या करते हैं और आरंभ करने के लिए आपको किस प्रकार की ज़रूरत है|

—एक वेबसाइट इंटरनेट पर आपके व्यापार का घर है। यह वह जगह है जहां संभावित ग्राहक आ सकते हैं और अपने व्यवसाय के बारे में सीख सकते हैं की उन्हें क्या प्रदान किया जा सकता है।

—मान लें कि आप वास्तविक दुनिया में एक बेकरी खोलने का फैसला करते हैं। सबसे पहले आपको इसे बनाने के लिए किराया देना पड़ेगा, है ना? एक वेबसाइट अलग नहीं है केवल आप एक पॉश इलाके में जगह नहीं किराये पर ले रहे हैं, आप किसी सर्वर पर जगह किराए पर ले रहे हैं।

—यहाँ अनेक सेवाएं हैं जो स्वयं  ही अपना ध्यान रख लेती हैं… लेकिन यह एक त्वरित अवलोकन है ताकि आपके पास पर्दे के पीछे क्या हो रहा है, इसके बारे में एक जानकारी रहे है। ठीक है, हमारे साथ बने रहिये , यहां कुछ तकनीकी जानकारी दी गई है|

—एक सर्वर इंटरनेट से जुड़ा कंप्यूटर है, जो सॉफ्टवेयर के साथ इसे आपकी वेबसाइट के टुकड़ों को संग्रहीत करने या “होस्ट” करने की अनुमति देता है: कोड, छवियां, वीडियो क्लिप, और आपकी साइट को बनाने वाली कोई भी चीज़।

—इसे एक सर्वर कहा जाता है क्योंकि जब अनुरोध किया जाता है तब यह सही सामग्री प्रदान करता है- अर्थात, जब कोई आपकी वेबसाइट पर कोई पृष्ठ देखना चाहता है|

—कई कंपनियां और सेवाएं हैं जो आपको एक सर्वर पर स्थान दे देंगे और आपकी वेबसाइट की मेजबानी करेंगे। बस एक ईंट और मोर्टार की दुकान की तरह, आप चल रहे होस्टिंग फीस का भुगतान करते हैं, जो किराया देने जैसा है, जिससे उन्हें सर्वर चलाने के तकनीकी पहलुओं को ध्यान में रखना पड़े और आप झंझट मुक्त रहे ।

—दुनिया के हर एक सर्वर का अपना पता है। इसे एक आईपी पता कहा जाता है, जो इंटरनेट प्रोटोकॉल है। आपको यह जानने की जरूरत है कि यह संख्याओं की एक लंबी स्ट्रिंग है जिसका अर्थ है कि इंटरनेट से जुड़ी कोई भी डिवाइस सर्वर से बात कर सकता है और उसे ढूंढ सकता है।

—सौभाग्य से, आपको ये समझने की ज़रूरत नहीं है कि वे एक-दूसरे को क्या कह रहे हैं, आपको जो करना चाहिए, वह संख्यात्मक आईपी पते को संदर्भित करने के लिए एक अच्छा नाम चुनना है। कौन सा हमें इस सत्र के दूसरे भाग में अच्छी तरह से लाता है – वेब पता, या ‘डोमेन नाम’?

—आपका डोमेन नाम से संभावित ग्राहक आपको मिलेगा – वैसे ही जैसे नाम से लोग हमारी बेकरी को वास्तविक दुनिया में खोज लेंगे: दरवाजे के ऊपर लगे साइनबोर्ड से|

—किसी भी वेबसाइट पर जाने के लिए आप ब्राउज़र विंडो में टाइप करते हैं। Www.google.com या www.yourbusinessnamegoeshere.com की तरह | चलो इसे तोड़ने के लिए एक मिनट लेते हैं।

—’WWW डॉट’ के बाद सब कुछ वास्तव में डोमेन नाम के रूप में जाना जाता है। यह वह हिस्सा है जो लोगों को आपकी वेबसाइट ढूंढने देता है, इसलिए बहुत महत्वपूर्ण है

—कोई भी उपकरण जो इस पते के लिए खोज करता है – एक टैबलेट, एक स्मार्टफोन, एक लैपटॉप – सर्वर से संचार कर रहा है सर्वर तब उस डिवाइस को सभी सही टुकड़ों को भेजता है, जिसे वेबसाइट को प्रदर्शित करने की आवश्यकता होती है – छवियों और कोड जैसी चीजें – ताकि जो भी उपकरण के दूसरे छोर पर हों वो आपके पृष्ठों को देख सकें।

—जब कोई व्यक्ति आपके वेब ब्राउज़र को अपने ब्राउज़र में टाइप करता है, तो इसका मूलतः क्या होता है

—सबसे पहले ब्राउज़र पता लगते है की कंटेंट किस साईट पर है और फिर उस सर्वर की तरफ बढ़ते हैं ।

—ब्राउज़र फिर कहता है, “अरे, क्या आप मुझे इस वेब पेज को दिखाने के लिए सभी तत्वों को दे देंगे?”

 

—सर्वर उत्तर देता है, “ज़रूर, मैं 5 छवियों, 2 लिपियों और कुछ अतिरिक्त फाइलों के साथ भेज रहा हूं।”

—ब्राउज़र सभी टुकड़ों को एक साथ रखता है, और व्यक्ति आपके अच्छे स्वरूपित वेब पेज को देखता है

—और यह बहुत ज्यादा सरल है, सिवाय इसके कि वे वाकई वास्तव में भ्रामक बिट्स और बाइट्स में बात करेंगे, अंग्रेजी नहीं। लेकिन यह हमारे लिए कोई मतलब नहीं होगा, इसलिए …

—संक्षेप करने के लिए: अपने व्यवसाय के लिए वेबसाइट बनाने का निर्णय करना यह समझने के साथ शुरू होता है कि यह सब एक साथ कैसे काम करता है: एक सर्वर ‘होस्ट’ आपकी साइट और एक डोमेन नाम लोगों को इसे ढूंढने में सहायता करता है।

वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें:

 

Posted on

अपनी ऑनलाइन उपस्थिति चुनना !

Digital gaurav digitalgaurav.in hindi digital marketing google certificate hindi

—नमस्कार! इस पाठ में, हम आपको सभी तरीकों से परिचय कराएंगे, जिनसे आप ऑनलाइन उपस्थिति बना सकते हैं- वेबसाइटों और सोशल मीडिया से स्थानीय व्यापार लिस्टिंग और साइट की समीक्षा कर सकते हैं।

—आप जानते हैं इन दिनों ऑनलाइन रहना कितना महत्वपूर्ण है। “डिजिटल होने” का सबसे स्पष्ट तरीका एक वेबसाइट के साथ है | प्रारंभिक वेबसाइटें ऑनलाइन ब्रोशर से ज्यादा नहीं थीं, जो बताती हैं कि कौन, क्या  और कहाँ हैं।

—आज की वेबसाइटें बहुत कुछ कर सकती हैं |आपकी साइट लोगों को शोध, विशेषज्ञों से चैट, ग्राहक की समीक्षा पढ़ना, वीडियो देखना, चीजें खरीदने, ऑर्डर ट्रैक करने में सहायता कर सकती है – और बहुत कुछ, बहुत कुछ। यदि आप तय करते हैं कि एक वेबसाइट आपके लिए काम की है, तो कुंजी यह है कि आपके व्यवसाय के लक्ष्यों का समर्थन करने के लिए आपकी साइट को वास्तव में क्या करना चाहिए। हमारे पास एक पूरा पाठ है, जहां हम उस बारे में विस्तार से बात करेंगे, लेकिन अभी के लिए, आज की चमकदार नई तकनीक के बारे में चिंता न करें, अगर वह सीधे आपके लक्ष्यों में योगदान नहीं दे रहा है।

—बेशक, किसी भी वेबसाइट के बिना व्यापार करना भी संभव है। यदि आप उदाहरण के लिए एक बेकरी के मालिक हैं, तो आप चाहते हैं कि ग्राहक आपको खोज सकें, वेबसाइट हों या न हों।

—आखिरी बार सोचो कि आपको चॉकलेट केक के लिए इक्ष्छा थी आप शायद ‘बेकरी निकटतम ‘ जैसे कुछ खोजे और आपके विकल्पों की समीक्षा की।

—आप एक स्थानीय बेकरी के लिए एक वेबसाइट देख सकते हैं … या आप स्थानीय लिस्टिंग में एक अच्छा विकल्प खोज सकते हैं।

—कुछ व्यवसाय Google माई बिजनेस और जस्टडायल जैसी उत्पादों का उपयोग करके एक डिजिटल उपस्थिति बनाने के लिए स्थानीय लिस्टिंग का उपयोग करते हैं |इन प्रकार के डिरेक्ट्रीज़ कारोबार विवरण, समीक्षा, नक्शे और छवियां प्रकाशित करते हैं।

—ये सूचियां आमतौर पर नि: शुल्क होती हैं, और लोग जब खोज करते हैं तो परिणाम पृष्ठों पर आपके व्यवसाय को प्रदर्शित करने में मदद करने का एक अच्छा तरीका है।

—स्थानीय लिस्टिंग से परे, आपके विशिष्ट प्रकार के व्यवसाय की समीक्षा साइटें हो सकती हैं, जहां लोग प्रतिक्रिया छोड़ सकते हैं-और आप जवाब दे सकते हैं |समीक्षा आपको प्रतिस्पर्धा पर बढ़त देगी।

—आप अपनी डिजिटल उपस्थिति के रूप में सोशल मीडिया का उपयोग भी कर सकते हैं। संपूर्ण दुनिया भर में लोग फेसबुक, ट्विटर और Google+ पेजों का इस्तेमाल करते हैं-या कुछ मामलों में एक वेबसाइट के विकल्प जैसे भी ।

—एक और तरीका है कि आप अपने ग्राहकों से ऑनलाइन पहुंच सकते हैं। आपने शायद अपने मोबाइल फोन पर ऐप या गेम डाउनलोड किए हैं। आप इन एप्लिकेशन को ग्राहकों के लिए स्वयं बना सकते हैं और ऑफ़र कर सकते हैं|

—ऐप्स, मोबाइल डिवाइस की अनूठी क्षमताओं का लाभ ले सकते हैं, जैसे कि जीपीएस, मैपिंग और फोन, ग्राहकों से जुड़ने के लिए।

—यदि कोई ग्राहक आपके ऐप को अपने मोबाइल पर इंस्टॉल करता है, तो अगली बार जब वह आपकी दुकान के पास आती है, तो एप उसे एक विशेष पेशकश भेज सकती है, जीपीएस के माध्यम से ।

—ऐप आपको एक आर्डर प्लेस करने की सुविधा देता है, ताकि जब आप आये तो आप कतार से बच सकें ।अपना आर्डर प्राप्त करें और अपने मोबाइल को टिल से टच करा क भुगतान कर सकें ।मोबाइल ऐप माध्यम है अपने लॉयल कस्टमर को रिवॉर्ड देने का , डिस्काउंट कूपन देने का जिससे वो वापस बार बार आपके पास आएं ।शायद उन्हें मुफ्त कॉफ़ी और मीठा बन मिल जाये ।

—तो, रीकैप करने के लिए: चाहे आप एक वेबसाइट, स्थानीय व्यापार लिस्टिंग, सोशल मीडिया, मोबाइल ऐप, या उपरोक्त सभी का उपयोग करते हैं, यह तय करना है कि आप ग्राहकों को क्या करवाना चाहते हैं, फिर एक ऐसा प्लान बनाएं, जो उन लक्ष्यों को पूरा करता है साथ में, यह चीजें आपके डिजिटल स्टोरफ़्रंट के रूप में काम करती हैं: ऑनलाइन ग्राहकों के साथ इंटरैक्ट करने के लिए आपका स्थान|

—हमारे पास इन सभी क्षेत्रों को कवर करने के लिए पाठ मिल चुके हैं, लेकिन अगले कुछ दिनों तक हम वेबसाइटों पर ध्यान केंद्रित करेंगे: आप मूल बातें सीखेंगे जैसे वेबसाइट कैसे काम करती है, उचित डोमेन नाम कैसे चुनती है और उसे कैसे पंजीकृत किया जाता है, और कैसे बनाएं| जो कुछ भी आप अपने डिजिटल विज़िटर के लिए ऑनलाइन जितना संभव हो उतना मैत्रीपूर्ण बनाने का निर्णय लेते हैं और अपने व्यवसाय के लक्ष्यों का समर्थन करते हैं। और अगर आप देखते रहेंगे तो हम इस सब को और अधिक कवर करेंगे।

वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें:

Posted on

विश्लेषण करिये और अपनाइये !

analyze and adopt digital gaurav

—हे ! अब तक, आप जान गए  हैं कि यह पता लगाना कितना महत्वपूर्ण है कि आप डिजिटल से क्या पाना चाहते हैं, अपनी ऑनलाइन उपस्थिति कैसे स्थापित करें, और अपने डिजिटल घर में लोगों को बुलाने के लिए डिजिटल मार्केटिंग का इस्तेमाल करना शुरू करें।

—लेकिन यह सुनिश्चित करना भी महत्वपूर्ण है कि आपकी डिजिटल योजना लंबी अवधि के लिए तैयार की गयी है।

—आइए हम ऐसा करने के कुछ तरीकों से आगे बढ़ते हैं: यथार्थवादी उम्मीदों की स्थापना, अपने परिणामों पर नज़र रखना और अपनी इंडस्ट्री के हिसाब से टेक्नोलॉजी में बदलाव करना ।

—याद करने वाली पहली बात: बहुत जल्द ही ज्यादा की अपेक्षा न करें। आपकी डिजिटल उपस्थिति सेट अप करने के लिए थोड़ा समय लगता है |

—तो अगर आप एक कैफे मालिक हैं, आप अपनी पहली वेबसाइट लॉन्च कर रहे हैं, ताजा बेक्ड कपकेक और मफिन के लिए आपकी ऑनलाइन बिक्री संभवतः छत से सीधे होने नहीं जा रही हैं।

—सर्च इंजन आपको खोजने में समय लगाते हैं ।आपके डिजिटल मार्केटिंग प्लान को और लागू करने में भी समय लगता है ।तो ऐसे लक्ष्य न बनाये जो अवास्तविक हो और ना पूरे होने वाले हों।

—किसी भी ऑनलाइन योजना का एक महत्वपूर्ण हिस्सा यह निर्धारित करना है कि आप क्या कर रहे हैं और यह सुनिश्चित कर लें कि यह काम कर रहा है इसे ‘एनेलिटिक्स’ कहा जाता है, और यह आपको दिखा सकता है कि लोग आपकी वेबसाइट कैसे पा रहे हैं और जब वे वहां जाते हैं तो वे क्या करते हैं।

—हमारे पास बहुत सारे वीडियो हैं जो एनालिटिक्स के विवरण में विस्तृत जानकारी रखते हैं, लेकिन आम तौर पर, यह जानकर कि आपके ऑनलाइन विज़िटर कहां से आएंगे, आपको यह पता लगाने में सहायता मिल सकती है कि आपके कौन से मार्केटिंग अभियान काम कर रहे हैं और कौन से नहीं।

—यदि आप जानते हैं कि लोग आपकी वेबसाइट पर एक बार आ रहे हैं, तो यह आपको यह पता लगाने में सहायता कर सकता है कि डिजिटल में आपका निवेश काम कर रहा है या नहीं।

—उदाहरण के लिए, अपने कैफे में, आप लोगों को सिर्फ अपना होमपेज दिखाना नहीं चाहते हैं, आप चाहते हैं कि वो बहुत सारी चीज़ें करें जैसे: अपने मेनू देखें, आरक्षण करें, अपने कैफे में पहुँचने के ड्राइविंग निर्देश प्राप्त करें, या वास्तव में एक ऑर्डर करें|

—लोग आपकी साइट पर क्या काम करते हैं, यह आपकी मदद कर सकता है यह समझने में ,आपकी सहायता कर सकता है कि क्या काम कर रहा है और क्या नहीं है – ताकि आप परिवर्तन कर सकें और आप जो भी कर रहे हैं, लगातार सुधार कर सकें।

—अंतिम बिंदु – यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि ऑनलाइन विश्व लगातार बदल रहा है।

—

—नए टूल्स ,टेक्नोलॉजी और तरकीबें रोज़ आ रही है और बदल रही हैं ।तो एक अच्छा प्लान वो है जिसमे बेसिक कॉन्सेप्ट्स जो बदलते नहीं और नए चेंज जो बदलते है सही अनुपात में उपयोग करें ।

—इसी प्रकार, जब चीजें आपके उद्योग में बदलती हैं, तो सुनिश्चित करें कि आपका ऑनलाइन विश्व अपडेट किया गया है।

—क्या आप कोई नया मिठाई दे रहे हैं? अगर चीज़केक सबसे पसंदीदा डिश है, तो आप ग्राहकों को विभिन्न विकल्पों को दिखाने के लिए अपने विज्ञापनों को तुरंत अपडेट कर सकते हैं जो आप उन्हें परोसेंगे ।

—अपने आप को ऑनलाइन सफलता के लिए स्थापित करने के लिए, आपको छलांग लगाने से पहले देखना होगा। और देखना बंद मत करो! एक अच्छी योजना तीन चीजों पर विचार करेगी:

—सबसे पहले, अपने ऑनलाइन लक्ष्यों को जानें – और खुद को यथार्थवादी उम्मीदें निर्धारित करें

—

—अगला, आप क्या कर रहे हैं यह पता लगाने और मापने के लिए एनालिटिक्स का उपयोग करें और यह कैसा काम कर रहा है।

— और आखिरकार, हमेशा अपडेट  रहें और टेक्नोलॉजी  और आपके द्वारा काम किए जाने वाले उद्योग में हुए बदलावों के अनुकूल रहें।

—यदि आपकी योजना इन सभी चीजों को हल करती है और आप लचीले रहते  हैं, तो आप अपने रास्ते पर अच्छी तरह से बढ़ेंगे ।

वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

Posted on

अपनी ऑनलाइन उपस्थिति की मार्केटिंग !

marketing online presence

—अच्छा तो अब आपने अपना ऑनलाइन घर बना लिया है और सोच रहे होंगे की अपने इस वर्चुअल दरवाजे पर और अधिक ग्राहकों को कैसे लाया जाये |

 

—आइये सर्च इंजन, अन्य वेबसाइटों, सोशल मीडिया और ईमेल का उपयोग करने के लिए कुछ महान रणनीतियों पर चर्चा करें।

 

—तो हम इसके बारे में बात करते हैं की आप ग्राहकों को ऑनलाइन खोजने के लिए कैसे आगे बढ़ेंगे ?

—डिजिटल तरीके से इसका उपयोग करने के कुछ तरीके हैं

—चलो सर्च इंजन के साथ शुरू करें जब लोग किसी सर्च इंजन में कुछ टाइप करते हैं, तो वे यह जानते हैं कि वे वास्तव में क्या चाहते हैं।

 

—यदि आप प्रासंगिक सेवाएं और उत्पादों की पेशकश करते हैं, तो सर्च  इंजन आपके व्यवसाय को सर्च परिणामों में दिखाएंगे।

—अब, दो मुख्य तरीके हैं, जिनसे आप सर्च इंजन का उपयोग कर सकते हैं, और दोनों पर साझा करने के लिए हमारे पास बहुत सारी जानकारी  है।

—सबसे पहले सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (अपने अनुकूल बनाना ), या एसईओ, जो आपके  व्यवसाय को बिना भुगतान किए गए सर्च परिणामों में बढ़ावा देने में मदद करता है

 

—दूसरा सर्च इंजन मार्केटिंग , या एसईएम है, जो आपको सर्च परिणामों में विज्ञापन स्थान खरीदने की सुविधा देता है।

—एसईओ आपकी साइट को सही लोगों के सामने लाने के लिए है जो आपके उत्पादों और सेवाओं की खोज कर रहे हैं।

 

—अब, ऐसा करने के लिए बहुत सारे तरीके हैं, हम बाद में उन्हें विस्तार से समझायेंगे , लेकिन ट्रिक यह है की जान लेना कि लोग वास्तव में किस प्रकार के शब्द टाइप करते हैं – कीवर्ड वे आपके व्यवसाय के लिए सबसे सटीक शब्द हैं।

—इसको समझ लेने पर आप जानोगे की इन शब्दों को खोजने पर कैसे आपको दिखाया जाता है ।

—दूसरी ओर, एसईएम, यह तब होता है जब व्यापार उन लोगों को विज्ञापन दिखाने का भुगतान करते हैं जो विशिष्ट कीवर्ड ऑनलाइन खोज रहे हैं

 

—अधिकांश प्रमुख सर्च इंजन एक नीलामी प्रणाली का उपयोग करते हैं, जहां बहुत सारे विभिन्न व्यवसाय उनके विज्ञापनों पर बोली लगाने के लिए प्रतिस्पर्धा करते हैं जो कीवर्ड वे टारगेट करना चाहते हैं|

—सर्च लोगों तक पहुंचने का एक शानदार तरीका है, लेकिन हम इंटरनेट पर बहुत अधिक रहते हैं हम समाचार पढ़ते हैं, खेल के स्कोर की जांच करते हैं, व्यंजनों को ब्राउज़ करते हैं, वीडियो देखते हैं और आमतौर पर वेब पर बहुत सारे और दिलचस्प सामग्री को ब्राउज़ करते हैं।

 

—इस सभी सामग्री के साथ आप विज्ञापनों को देख सकते हैं इसे डिस्प्ले विज्ञापन कहा जाता है

 

—डिस्प्ले ऐड हर जगह ऑनलाइन दिखाई देते हैं, और कई प्रारूपों जैसे टेक्स्ट, छवियां, वीडियो और विज्ञापनों में आते हैं, जिन पर आप क्लिक कर सकते हैं और साथ बातचीत कर सकते हैं।

—वे आपका संदेश वहां से प्राप्त करने का एक शानदार तरीका हो सकते हैं और आप उन लोगों को चुनने में सक्षम हो सकते हैं, जिन्हें आप अपने विज्ञापन देखना चाहते हैं, और उन वेबसाइटों और पृष्ठों को आप जिस पर दिखाना चाहते हैं

सोशल मीडिया साइटों – जैसे फेसबुक, ट्विटर या Google+ – अपने व्यवसाय के बारे में जागरुकता बढ़ाने के लिए एक अन्य विकल्प देते हैं, और वे विशेष रूप से ग्राहकों के साथ संबंध बनाने के लिए उपयोगी होते हैं

—अधिकतर नेटवर्क पर आप अपने व्यवसाय के लिए पेज या प्रोफाइल बनाएंगे। फिर आप बहुत सारे लोगों से सार्थक वार्तालाप शुरू करके और अपने व्यापार के द्वारा बनाई गई सामग्री को साझा करके सोशल पर कनेक्ट हो सकते हैं।

 

—इससे पहले की हम इस बात को समेटे ,मै आपको बताना चाहूंगा एक और विषय के बारे में जिसके द्वारा बिज़नेस डिजिटल का प्रयोग कर सकते हैं -ईमेल मार्केटिंग ।

—हम जंक ईमेल या “स्पैम” के बारे में बात नहीं कर रहे हैं, जो आपके इनबॉक्स को भरने के लिए, लेकिन उन लोगों को प्रासंगिक जानकारी और ऑफ़र भेजना जिन्होंने पहले से ही कहा है कि वे आप से सुनना चाहते हैं|

 

—आप लोगों से ईमेल प्राप्त करने के लिए साइन अप कर सकते हैं या “ऑप्ट इन” कर सकते हैं ,बाकी आप पर निर्भर है आप उन लोगों को कूपन भेज सकते हैं, जिन्होंने आपकी साइट पर अपॉइंटमेंट किया है, विशेष कार्यक्रमों का विज्ञापन करें या बिक्री आइटमों को बढ़ावा दें।

—लोगों को ऑनलाइन ढूंढने के सभी तरीकों को जानना-और जानना कि वे आपको कैसे ढूंढ सकते हैं-आपके व्यवसाय को बड़े- स्तर पर लॉन्च करने में सहायता कर सकते हैं

 

—जितने भी डिजिटल मार्केटिंग का आप प्रयास करेंगे, उतना ही अधिक अवसर आपको अपने सबसे मूल्यवान ग्राहकों तक पहुंचाएंगे जहां वे डिजिटल दुनिया में होंगे।

वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें:

 

Posted on

आपके ऑनलाइन उपस्थिति का निर्माण

online presence hindi digital

—हे! हम डिजिटल हो जाने के पहले चरण को देखने जा रहे हैं: आपकी ऑनलाइन उपस्तिथि बनाते हैं |

 

—स्थानीय प्रविष्टियों, वेबसाइटों, मोबाइल एप्लिकेशन और सोशल मीडिया जैसी चीज़ों सहित, आपको एक डिजिटल उपस्थिति बनाने के लिए बहुत सारे विकल्प मिलते हैं।

—यदि आप इन मूल बातों को ठीक से समझते हैं तो यह आपकी ऑनलाइन दुनिया में अंतर बना सकती हैं ।

—इन दिनों, किसी के लिए एक ऑनलाइन  घर बनाना आसान है|

—हो सकता है की वेबसाइट  पहली चीज़ है जो आपके मन में आये ,परन्तु जरुरी नहीं की वही से शुरू किया जाये ।

—मान लीजिए कि आप उदाहरण के लिए कैफ़े मालिक हैं, ऑनलाइन ग्राहक ढूंढने के लिए आपका पहला कदम है, Google MY Business जैसी स्थानीय ऑनलाइन निर्देशिकाओं में आपकी दुकान की सूची हो सकती है

—तब जब कोई व्यक्ति आपके क्षेत्र में कैफे के लिए Google खोजता है, तो आप परिणामों में दिखाई देंगे – कोई भी वेबसाइट की आवश्यकता नहीं है!

—आप संभावित ग्राहकों को आपके व्यवसाय की एक झलक देने के लिए फेसबुक पेज भी शुरू कर सकते हैं !और आप क्या कर सकते हैं – जैसे कुछ खुश ग्राहकों के फोटो या वीडियो जो आपके स्वादिष्ट हॉट चॉकलेट पी रहे हैं|

—अगर यह सब कम सा है, चिंता न करें। हमरे पास कई वीडियो हैं जो आपको सोशल मीडिया को खोजने और समझने में मदद करेंगे ।

—एक वेबसाइट के बिना आप बहुत कुछ कर सकते हैं, लेकिन एक बिंदु पर, आप वेब पर अपना स्वयं का एक घर बनाना चाहते हैं, एक स्टॉप-शॉप जहां आपके ग्राहकों को आपके बारे में सारी जानकारी ऑनलाइन  मिल सकती है।

—बढ़िया, आगे चलें!

 

—सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आप अपनी साइट की योजना शुरू करते हैं, इस बारे में सोचना है कि आप लोगों से साइट पर क्या करवाना चाहते हैं उदाहरण के लिए:

—क्या आप चाहते हैं कि वो आपको बुलाएं? यदि हां, तो अपने फ़ोन नंबर को प्रत्येक पृष्ठ पर प्रमुखता से शामिल करें

—शायद आप उन्हें अपनी वास्तविक दुकान तक बुलाना चाहते हैं? ठीक है, एक नक्शा और ड्राइविंग निर्देश शामिल करें|

—शायद आप चाहते हैं कि वो प्रतिक्रिया दें या समीक्षा लिखें? यह एक ऐसी सुविधा है जिसका  आप निर्माण कर सकते हैं|

—या अंत में, आप चाहते हैं कि वे ऑर्डर करके और भुगतान जमा करके – वास्तव में आपके ऑनलाइन उत्पादों को खरीद लें – इसे ई-कॉमर्स कहा जाता है, और कई प्रकार के विकल्प होते हैं-सरल से जटिल तक -हम अन्य वीडियो में और अधिक विस्तार से चर्चा करेंगे।

—वेबसाइट अब केवल ऑनलाइन घर नहीं हैं इन दिनों कई व्यवसाय ग्राहकों के लिए मोबाइल ऐप बनाते हैं जिसे कि वे अपने स्मार्टफ़ोन या टेबलेट पर रख सकते हैं।

—ऐप्स सभी प्रकार के डिजिटल दरवाजे खोलते हैं – उदाहरण के लिए, आप वफादारी कार्यक्रम बना सकते हैं या अपॉइंटमेंट्स का आटोमेटिक रिमाइंडर भेज सकते हैं।.

—सही, स्पष्ट होने के लिए: यदि आप चाहते है की लोग आपको ऑनलाइन खोज सकें तो आपको ऑनलाइन अपनी उपस्तिथि दर्ज करनी होगी ।

—यह एक स्थानीय व्यापार निर्देशिका, सोशल मीडिया साइटों पर एक उपस्थिति, एक साधारण वेबसाइट या एक ई-कॉमर्स, एक मोबाइल ऐप- या उपरोक्त सूची से सभी हो सकती है।

 

—जो भी आप चुनते हैं, यह वह जगह है जहां लोग आपको ढूंढते हैं, आपके बारे में जानते हैं, और उम्मीद है कि वह आपका ग्राहक बन जाएगा।

 

Posted on

आपके ऑनलाइन लक्ष्य !

digital goals

—हे! यह लक्ष्य के बारे में बातचीत करने का समय है

 

—प्रत्येक व्यवसाय के विभिन्न उद्देश्य होते हैं |यह जानना अच्छा होगा की आप ऑनलाइन होकर क्या हासिल करना चाहते हैं , क्योंकि इससे आपको सही प्राथमिकताओं को सेट करने में मदद मिल सकती है और आपकी योजना को पूर्ण किया जा सकता है|

— आपके व्यवसाय की मदद करने के लिए बहुत सारे स्पष्ट तरीके हैं डिजिटल में । जैसे कि सामाजिक नेटवर्क पर संबंधों का निर्माण करना, ऑनलाइन बिक्री करना, नए ग्राहकों को ढूंढना या मौजूदा लोगों को भी ग्राहक बनाये रखना |

—एक अच्छी शुरुवात करने के लिए खुद से एक साधारण प्रश्न पूँछिये: मैं वास्तव में ऑनलाइन क्यों होना चाहता हूं?

—कल्पना करें कि आप एक कैफे के मालिक हैं आपका अंतिम लक्ष्य हो सकता है: अधिक कॉफी और सैंडविच बेचने और लोगों को अपने मेनू से दैनिक विशेष और अन्य व्यंजनों के लिए प्रेरित करना।

—लेकिन इससे पहले कि कोई भी आपके द्वार पर चल कर आये , उन्हें पता होना चाहिए कि आप मौजूद हैं।

 

—यह एक महान लक्ष्य है जिसमे डिजिटल आपकी सहायता कर सकता है।

—तो हम इसी  के साथ डिजिटल दुनिया में अपने शब्द कहने से शुरुवात करते हैं |

—एक आसान जीत स्थानीय ऑनलाइन निर्देशिकाओं में आपके व्यवसाय को सूचीबद्ध करना  है। इसलिए, जब लोग खोज इंजनों, या ऑनलाइन नक्शे पर एक स्थानीय कैफे की तलाश करते हैं, तो आपका व्यवसाय दिखाई देगा

—फिर आप अपने व्यवसाय के बारे में जानकारी साझा करने के लिए एक वेबसाइट बनाने का फैसला कर सकते हैं। यह आपके कार्य के समय  , आपके स्थान, आपकी कीमतें और आपके द्वारा प्रदत्त सेवाओं की तरह हो सकता है। हो सकता है कि फोटो और वीडियो भी हों जो नए ग्राहकों को अपने माध्यम से आपके दरवाज़े तक ले आये ।

—आप सोशल मीडिया पृष्ठ की स्थापना कर सकते हैं – जैसे फेसबुक, Google+ या ट्विटर पर, जहां आप अपनी रचनाओं की तस्वीरें पोस्ट कर सकते हैं, विशेष सौदे की पेशकश कर सकते हैं और वास्तव में अपने ग्राहकों से जुड़ सकते हैं

—जैसे ही आप इन लक्ष्यों को प्राप्त करना शुरू करते हैं और अधिक लोगों को आपकी जानकारी मिलती है, आपका लक्ष्य स्वाभाविक रूप से विकसित हो सकता हैं और आप अपने आगंतुकों को भुगतान करने वाले ग्राहक बनाने में  अपना ध्यान केंद्रित करना चाहेंगे |

—आप अपनी साइट पर नई सुविधाओं को जोड़ सकते हैं जैसे: आरक्षण, एक “समीक्षा” खंड जहां लोग आपके बारे में अच्छी बातें कह सकते हैं, यहां तक कि एक ऑनलाइन ऑर्डर सुविधा भी कर सकते हैं।

 

—अब जब आप विज़िटर को आकर्षित करने के लिए डिजिटल का उपयोग कर रहे हैं, और उन्हें ग्राहकों में बदल सकते हैं, तो आप ऑनलाइन विज्ञापन में निवेश करके अपने व्यवसाय का विस्तार करना शुरू कर सकते हैं।

—जो भी आपके अंतिम डिजिटल लक्ष्य हैं, या जहां आप वर्तमान में खड़े हैं, आपकी प्राथमिकताएं आपके व्यवसाय के साथ स्वाभाविक रूप से बदलेंगी और बढ़ेंगी ।

—अब यह सुनिश्चित करने के लिए कि आप अपने उद्देश्यों को पूरा कर रहे हैं, रास्ते में अपनी प्रगति को मापना वास्तव में महत्वपूर्ण है।

 

—इसे “एनालिटिक्स” कहा जाता है विश्लेषिकी आपको यह जानने की सुविधा देता है कि क्या अच्छा काम कर रहा है, और क्या बेहतर हो सकता है।

—हम इस बारे में और अधिक गहनता से बाद में अध्यन करेंगे, लेकिन डिजिटल के साथ आपकी सफलता को मापने के लिए आपको कई विकल्प मिलेंगे।

—तो फिर दोहराते हैं| चलो इससे पहले कि आप डिजिटल दुनिया में डुबकी लगाते हैं, ठीक उसी तरह से सोचें कि आप क्या हासिल करना चाहते हैं। फिर, अपने लक्ष्यों को पूरा करने में आपकी सहायता करने के लिए विभिन्न ऑनलाइन अवसरों को प्राथमिकता दें।

—अगले कुछ वीडियो में, हम आपकी योजना की सहायता करेंगे सबसे पहले, विभिन्न तरीकों को देखकर आप एक डिजिटल उपस्थिति स्थापित कर सकते हैं।

 

—इसके बाद, खुद को ऑनलाइन प्रस्तुत  करने के विभिन्न तरीके

 

—और अंत में, आप अपने डिजिटल प्रयासों को कैसे माप सकते हैं और सुधार सकते हैं।

Posted on

आपका डिजिटल अवसर

हे मित्रों !तो आपने देखा कैसे डिजिटल ने हमारी ज़िन्दगियों में बदलाव किया , लेकिन अब ,चलो अब व्यवहारिक हो जाते हैं |ऑनलाइन बढ़ते हुऐ नंबर आपके लिए कैसे अवसर हैं ,यह देखते हैं

इस विडियो में हम बात करेंगे डिजिटल के प्रमुख अंगों की,कैसे वो आपके बिज़नस से जुड़े हैं और कैसे शुरुवात करनी है .

—मान लेते हैं की आप एक रिटेलर हो जिसका बिज़नस केवल शिफारिस से चला है.अब तक आपकी कोई डिजिटल उपस्तिथि नहीं है,लेकिन अब आप अपने बिज़नस को अगले स्तर पर ले जाना चाहते हो .कैसे ऑनलाइन होना आपके बिज़नस की सहायता करेगा?

—ऑनलाइन होने का सबसे बड़ा फायदा है सर्च का लाभ उठाना .डिजिटली प्रेजेंट होने का मतलब है की जब लोग ऑनलाइन होंगे और आपके जैसे बिज़नस को देखेंगे तो आप उनको दिखेंगे |

—तो मानते हैं की कोई डिजाइनर बुटीक खोजता है और रिजल्ट में आपका स्टोर आता है |यह कैसे आपके बिज़नस को फायदा पहुंचाएगा ?

— संभावनाएं लगभग अंतहीन हैं। जब कोई ग्राहक आपकी वेबसाइट पर एक लिंक पर क्लिक करता है तो वे आपके बारे में बहुत कुछ सीख सकते हैं।

—वे आपके द्वारा नई जानकारी के बारे में पोस्ट किए गए वीडियो देख सकते हैं जो आपके ज्ञान को दर्शाता है।

—वे खुश ग्राहकों से प्रशंसापत्र पढ़ सकते हैं|

—वे आपके मूल्य निर्धारण गाइड की खोज कर सकते हैं, मैप पर आपकी दुकान ढूंढ सकते हैं या पता लगा सकते हैं कि आप पहले ग्राहकों के लिए मुफ्त सिलाई सेवाएं प्रदान करते हैं

—शायद वे प्रश्न पूछने के लिए एक फॉर्म भरेंगे।

—वे आपकी सोशल मीडिया साइटों पर भी क्लिक कर सकते हैं, जहां उन्हें और भी सुझाव, फ़ोटो और वीडियो मिलेंगे।

—आप अपनी वेबसाइट पर इन सभी सुविधाओं से शुरू नहीं हो सकते हैं, लेकिन इन उदाहरणों से आपको ऑनलाइन होने के कई लाभ मिल सकते हैं जिनसे आपको फायदा हो सकता है

—और अंदाज लगाइये क्या? अभी और है!

—आपकी ऑनलाइन उपस्थिति आपको भावी ग्राहकों में मूल्यवान अंतर्दृष्टि भी दे सकती है: वे क्या चाहते हैं, और उन्हें कैसे वह चीज देना है। कैसे?

—ठीक है, डिजिटल आपको, लोगों को ,लक्षित विज्ञापन दिखाने के लिए अनुमति देता है, जब वे आपके द्वारा ऑफ़र की जाने वाली चीज़ों की तलाश कर रहे हैं।

—उदाहरण के लिए, सर्च  विज्ञापन का उपयोग करके, आप संभावित ग्राहकों को विज्ञापन दिखा सकते हैं जैसे कि “मुंबई में शादी के पहनावे ” की खोज करने वाले लोग। आप अपनी दुकान के एक निश्चित भौगोलिक सीमा  के भीतर दिखाने के लिए विज्ञापनों को प्रतिबंधित भी कर सकते हैं। आप एनालिटिक्स टूल का उपयोग सीख सकते हैं और जान सकते हैं कि लोग आपके विज्ञापन पर क्लिक करते हैं, आपकी साइट पर गए और कुछ कार्य किए फ़ॉर्म भरे या वीडियो देखे ।

—रोमांचक सही? लेकिन आप कैसे शुरू करते हैं? अच्छी तरह से पहले, भयभीत न हों: आज उपलब्ध उपकरण और तकनीक सीखना आसान है, प्रयोग करने में आसान है और प्राप्त करने में आसान है। कई मुफ्त भी हैं

—वास्तव में, कई व्यवसायों के लिए, ऑनलाइन होने की सबसे बड़ी चुनौती उपकरण के लिए उपयोग नहीं, लेकिन एक योजना को एक साथ रखना  है

—हमें बहुत सारे वीडियो मिलते हैं जो आपकी मदद करने के लिए तैयार हैं, लेकिन हम उन प्रमुख चीजों की एक त्वरित सूची को बताते हैं जिन्हें आप देखना चाहते हैं।

—पहला क्षेत्र है वेब, मोबाइल, सोशल  … बहुत सारे विकल्प हैं आप कहां शुरू करना चाहते हैं, और आप कहां जाना चाहते हैं?

 

—अगला तकनीक और सामग्री है: तय करें कि क्या आप साइट के तकनीकी और रचनात्मक पहलुओं को संभाल लेंगे- जो अधिक समय ले सकता है- नही तो सहायता प्राप्त करें, जो अधिक धनराशि ले सकता है

 

—अंत में आप लागत और समय पर विचार करना चाहेंगे: एक यथार्थवादी बजट और सटीक मील के पत्थर के साथ एक योग्य कार्यक्रम सेट करें- और दोनों के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध रहे ।

—हर दिन, हजारों छोटे व्यवसायिक उनके लिए वेब को काम में ला रहे हैं। चारो कोनों से और दुनियाभर में ग्राहकों तक पहुंचने का अवसर बहुत बड़ा है, जिसे नज़र अंदाज नहीं कर सकते ।

 

—यह फ़ैसला करने और डिजिटल हो जाने का समय है!

 

Posted on

दुनिया डिजिटल हो गयी है|

digital marketing

—नमस्कार ! दोस्तों मै गौरव Digitalgaurav.inसे |

—दुनिया डिजिटल हो गयी है |डरिये नहीं -यह आपके लिए एक मौका है अपने व्यवसाय को,अपने व्यापार को या अपने टैलेंट को नयी ऊंचाइयों पर ले जाने का |

इस विडियो में आप सीखेंगे

—कितने लोग दुनियाभर में ऑनलाइन हैं

—कैसे वो लोग ऑनलाइन अपना समय व्यतीत कर रहे हैं

—कैसे आपका व्यापर इस बढ़ते हुवे डिजिटल ट्रेंड से फायदा ले सकता है|

—यह कोई रहस्य नहीं है ,जब से इन्टरनेट का जन्म हुवा है तब से सब  चीजें डिजिटल  हो गयी हैं |अब हम बात करेंगे कितने लोग इस समय दुनिया में ऑनलाइन हैं,और कैसे वो ऑनलाइन अपना समय बिता रहे हैं |और अंत में आप सीखेंगे कैसे आपका बिज़नस भी डिजिटल हो कर आपको फायदा पहुंचा सकता है|

—पिछले 15 वर्षों में ऑनलाइन प्रयोग में विस्फोटक वृद्धि हुई है इसका आईडिया लेने के लिए इस पर गौर करिये :2000 में  3 लाख इकसठ करोड़ लोग ऑनलाइन थे |2016 में  वो 3अरब हो गए | सात सौ चौंसठ प्रतिसत  वृद्धि की दर है |आज,लगभग आधी दुनिया ऑनलाइन है |

—2016 में जिन भारतियों के पास इन्टरनेट था ,उनमें चौंतीस.आठ.प्रतिशत की प्रभावी दर से बढ़त हुई है |भारतीय लोग इतने ज़्यादा कनेक्टेड हैं  की उनका मोबाइल सब्सक्रिप्शन रेट 0.8% जो की लगभग एक व्यक्ति प्रति मोबाइल है |

—इससे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता की वो कौन सा डिवाइस यूज़ करते हैं ,लोग 26 घंटों से अधिक प्रति   सप्ताह यानी 100 घंटे प्रति माह ऑनलाइन बिताते हैं |

—तो वो क्या कर रहे होंगे जब वो ऑनलाइन होते हैं? और आपके बिज़नस के लिए यह कैसे एक अवसर है ?

—इनमे से बहुत से डिजिटली जुड़े हुए लोग खरीदारी कर रहे होंगे |शोध ये कहता है की , लगभग 10करोड़ लोग 2016 के अंत तक भारत में ऑनलाइन शॉपिंग कर चुके होंगे |

—पिछले पांच सालों में ऑनलाइन विडियो ने भी दोहरी संख्या में बढ़त दर्ज की है ,करोडो लोग या तो सोशल मीडिया पर या वेबसाइट जैसे यूट्यूब, नेटफ्लिक्स,अमेज़न प्राइम पर वीडिओज़ देखते हैं|

—और लोग घंटो बिता रहे है इन सोशल साइट्स पे एक दूसरे को जानने में और शेयर करने में ,लगभग साढ़े तीन  घंटे प्रतिदिन |

—अगर आप बिज़नस के मालिक है तो ये सारे  ऑनलाइन लोग आपके लिए ढेर सारे अवसर हैं |

—और जैसे ही समय बीतेगा ,लोग इन्टरनेट को और ज्यादा इस्तेमाल करेंगे जो की आपके बिज़नस को प्रभावित करेगा |

—यह सच में एक अद्भुत मॉडर्न जादू है की कैसे इतने कम समय में इन्टरनेट ने हमारी जिंदगी बदल दी है |

—हर देश में हर क्षेत्र में पूरी दुनिया ने एक पहल की है डिजिटल होने में |यह एक अवसर है जिसका हर छोटा व्यापारी फायदा उठा सकता है |

—हमारे साथ बने रहिये और हम आपको बताएँगे कैसे .

वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें ।

 

Posted on

वेबसाइट की राजधानी – वर्डप्रेस ! वर्डकेम्प दिल्ली

जय वर्डप्रेस !

wordcamp delhi

वर्डप्रेस को वेबसाइट्स की राजधानी कहना गलत नहीं होगा क्योंकि विश्व में बनी हुई हर चौथी वेबसाइट वर्डप्रेस पर है ।सबसे लोकप्रिय कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम ,वेबसाइट डेवेलपर्स की पहली पसंद -वर्डप्रेस ।और ऐसे ही तमाम वर्डप्रेस यूज़र्स एकत्रित हुए देश की राजधनी दिल्ली में वर्ड कैंप इवेंट में ।दिल वालों की दिल्ली ने दिल से स्वागत किया सबका ।रिमझिम बरसात और ठंडी हवा के झोंकों के संग हमने रुख किया जंतर मंतर की ओर – ना ना धरने के  लिए नहीं ,NDMC कन्वेंशन सेंटर पर अपने तशरीफ़ को धरने के लिए और वर्डप्रेस के महारथियों से ज्ञान लेने के लिए. माहौल खुशनुमा था और सभी एक दूसरे की सहायता क लिए तत्पर थे ।पंजीकरण कराया और #wckanpur ,वर्डकेम्प कानपूर में बने मित्रों से जान पहचान हुई ।सैंडविच ,कूकीज और चाय पर हांथ साफ़ करने के बाद हांथ मिलाने का दौर शुरू हुवा और बहुत लोगों से जान पहचान की । इसी बीच मुलाकात हुई @dotcomfolk सिब्तैन ज़हीर जी से जो की @wordcampdelhi वर्डकेम्प  दिल्ली के आर्गेनाइजर हैं ।उनकी मेहनत रंग लायी थी और हम आज उस मेहनत का मीठा फल खा रहे थे ।ज़हीर जी ने हमारे वर्डकेम्प कानपूर के ब्लॉग पोस्ट की तारीफ़ की और वर्डकेम्प दिल्ली पर ब्लॉग के लिए आग्रह किया । अपने ब्लॉग के कुछ विज़िटर्स से भी पहले बार आमने सामने मिलने का मौका मिला ।फिर सेशन शुरू हुवा ज्ञान अर्जन का । पहले स्पीकर थे @rahul286 राहुल बंसल जी ।

@rtcamp आर टी कैंप से राहुल बंसल ने बताया की कैसे हम इंटरप्राइजेज(उद्योगों ) को वर्डप्रेस बेंच सकते हैं ।वर्डप्रेस को लेकर क्लाइंट अक्सर सिक्योरिटी और ओपन सोर्स होने की बात कहता है ।वर्डप्रेस को लार्ज स्केल वेबसाइट बनाने के लायक नहीं समझता , फ्री होने पर भी दुविधा प्रकट करता है और इसे अन्य सॉफ्टवेयर के साथ समायोजित करने के विषय में भी शंका जाहिर करता है । इन सभी शंकाओं का समाधान दिया राहुल जी ने ।

अगले स्पीकर थे @xlplugins एक्स एल प्लगिन्स से @djeet  दमनजीत सिंह जी जिन्होंने बताया क्यों पहली बार वेबसाइट पर आया विजिटर आपका कस्टमर नहीं बनता है ।क्यों उसको आप पर ट्रस्ट नहीं होता है और कैसे हम ये ट्रस्ट गेन कर सकते हैं , अपनी साइट को और भरोसेमंद बना सकते हैं ।

प्रेजेंटेशन के मध्य में ही अनाउंसमेंट हुवा की @wpoets डब्लूपोएट्स से @thecancerus अमित कुमार सिंह जी दूसरे हॉल में वर्डप्रेस के साथ ही दूसरे प्लगिन्स का साथ लेकर कैसे अपनी वेबसाइट के फीचर्स बढ़ा सकते हैं ।

सुनते ही आधा ध्यान उधर की ओर भगा । दिल जैसे लेफ्ट राइट में विभजित होकर दमनजीत जी और अमित जी की अलग अलग सुनना चाह रहा था । कित्नु शारीरिक विवशता के कारन किसी एक को चुनना था । दमनजीत जी से ज्ञान लेकर मै टी ब्रेक में अमित जी से मिल कर उनसे और जानकारी ली ।

अमित जी ने बताया की कैसे हम कम समय में ही प्लगइन या थीम्स के कोड में थोड़े चेंज कर के वेबसाइट को और अधिक अच्छे से डेवेलप कर सकते हैं ।

हाल १ में अगले स्पीकर थे @ravichahar27 रवि चाहर जी,उन्होंने ने बताया अब आपको पीले ट्रायंगल से घबराने की जरुरत नहीं है । एरर को कैसे ट्रबलशूट करना है और क्यों आपको बेसिक एरर्स को ठीक करना आना चाहिए । रवि जी ने एक सटीक बात बताई की अगर कोई एरर आप नहीं सोल्व करते हो तो आपको सपोर्ट टीम को कांटेक्ट करना पड़ेगा या समस्या का टिकट जनरेट करना पड़ेगा ,ऐसे में आपका समय और वेबसाइट का डाउनटाइम बढ़ेगा जो आपके और आपके साइट विजिटर के  लिए अच्छा नहीं है ।

हॉल २ में वरुण शर्मा जी ने बताया कैसे कोडिंग और प्रोग्रामिंग डेवलपर की पहचान बन गए हैं ।उन्होंने बताया क्यों हमे रीडेबल कोड लिखने चाहिए और ख़राब लिखे हुए कोड से क्या नुकसान है । कोड को आसानी से पढ़ा जा सके उसके ९ तरीके भी उन्होंने बताये ।उन्होंने अपना एक्सपीरियंस वर्डप्रेस यूजर्स और वर्डप्रेस डेवलपर के तौर पर साझा किया ।

चाय कॉफ़ी का समय था और फिर कुछ हैंड शेक हुवे । नाश्ते के बाद हॉल १ में घुसे तो देखा कुर्सियां सज चुकी थी मंच पर आसीन थे धुरंधर @ankurraheja अंकुर रहेजा ,रॉडनी राइडर और @sanyog संयोग शेलार जी । विषय था वर्डप्रेस,जी पी एल ,और कॉपीराइट ।और कैसे अपनी साइट की स्ट्रेटेजी को लीगल प्रूफ बना सकते हैं ।

उन्होंने चर्चा में बताया क्यों वर्डप्रेस जनरल पब्लिक लाइसेंस्ड है ।इसके क्या फायदे हैं ?लीगल इश्यूज ब्लॉगर और डेवेलपर के लिए क्यों महत्वपूर्ण हैं और आपकी क्या जिम्मेदारी है ।

हॉल २ में ऑटोमैटिक के हैपीनेस इंजीनियर @nagpai  नागेश पाई जी .com से .org ,दोनों वर्डप्रेस के सफर के बारे में बताया । wordpress .org और wordpress .com में क्या अंतर है और कौन सा वर्डप्रेस आपके लिए अधिक सुविधा जनक होगा।उन्होंने बताया की आप बिना पैसों के  भी वर्डप्रेस पर वेबसाइट बना सकते है और अपना ब्लॉगिंग सफर शुरू कर सकते हैं ,क्युकी वर्डप्रेस का मकसद ही है सबको बराबरी से लिखने का अवसर देना फिर वो किसी भी विचारधारा का हो ।

हॉल १ में अगले वक्ता थे @iashutoshgaur आशुतोष गौर जी , जिन्होंने बताया की कैसे वर्डप्रेस आपके इंटरप्रेन्योर बनने के सफर में पहली सीढ़ी साबित हो सकता है । आशुतोष जी ने एक के बाद एक तीन एंटरप्राइज सफलतापूर्वक चलाये । उन्होंने बताया की कैसे वर्डप्रेस ने उन्हें सक्षम बनाया अपने बिज़नेस को बढ़ाने में ।अगले भाग में उन्होंने बताया कैसे नॉन टेक्निकल स्टार्टअप को वर्डप्रेस फायदा पंहुचा सकता है और कैसे आप क्लाइंट को वर्डप्रेस की विशेषताएं बता कर प्रोजेक्ट्स ले सकते हैं । बाद में मैंने उनसे पूछा की क्या डोमेन होस्टिंग लेकर ,वेबसाइट बनाने से ही सिर्फ कोई सीईओ और एंटरप्रेन्योर अपने आप को कहने लगता है यह कितना सही है ? और मज़े की बात ये ,जवाब के साथ ही साथ मुझे मिली तालियां ,एक कॉफ़ी मग और आशुतोष एंड वर्डकॉम्प दिल्ली अटेंड करने वालों के साथ सेल्फी लेने का मौका ।

वहीँ हाल २ में थे @hardeepasrani हरदीप असरानी जी ।उन्होंने बताया की कैसे गुटेनबर्ग की सहायता से हम कंटेंट एडिट कर सकते हैं और उसका वर्डप्रेस में क्या फ्यूचर है ।गुटेनबर्ग के बारे में विस्तार से जानकारी दी और बताया कैसे बिना कोड को टच किये हुवे भी हम पोस्ट को एडिट कर सकते हैं ।

लंच ब्रेक हुवा और सब बढ़ चले लज़ीज़ व्यंजन की ओर ! भोजन की महक ने भूख को और बढ़ा दिया लेकिन कतार का मंजर ऐसा था मनो फिर से नोट बंदी हो गयी है और हम बैंक के सामने खड़े है । भीड़ की वजह से फिर हमने अपना रुख रवि चाहर और नागेश पाई जी की ओर किया और उनसे कुछ और ज्ञानवर्धक बातें जानी ।पंक्ति छोटी हुई तो फिर लंच किया ।जलेबी और हलवे ने तो मिठास घोल दिया । लंच के दौरान ही दर्शन हुवे @denharsh हर्ष अग्रवाल के ,जो देश के सफलतम ब्लोगेर्स में से हैं ।

लंच के बाद सेशन था @arunbansal अरुण बंसल जी का जो की सर्वरगाय  और स्टार्टअप कैफ़े के सह -संस्थापक हैं । अरुण ने बताया कैसे हम वर्डप्रेस साइट को सिक्योर और सेफ, हैकिंग प्रूफ बना सके हैं । उन्होंने बताया कैसे हैकर साइट को हैक करने की कोशिश करते हैं और कैसे उनसे बचा जा सकता है । कैसे डाटा रिकवरी कर सकते है और क्या क्या काम साइट मेंटेनेंस के लिए करना चाहिए ।

वही हॉल २ में डेवेलपर्स के बिच @talwar _vineet विनीत तलवार जी बता रहे थे कैसे एक डोमेन से दूसरे डोमैन में एक साइट से दूसरे साइट में डाटा इम्पोर्ट -एक्सपोर्ट करते हैं । उन्होंने ने कुछ बेसिक डिफ़ॉल्ट डेटाबेस स्ट्रक्चर के बारे में भी बताया ।साइट माइग्रेशन के समय जो दिक्कतें आती हैं ,और माइग्रेशन के लिए कौन से टूल्स और प्लगइन इस्तेमाल करना है ये भी बताया ।

हॉल १ में @manikarthik मणि कार्तिक जी ने अपना सफलता का सफर साझा किया ।कैसे वो कोच्ची जैसे छोटे शहर से सिलिकॉन वैली में जॉब पा गए और कैसे उनकी सफलता में वर्डप्रेस और ब्लॉगिंग वरदान साबित हुवे ।उन्होंने अपने जीवन में आये ३ प्रमुख परिवर्तन (डिजास्टर) के बारे में भी बताया ।एक प्रेरणा दायक जर्नी रही है मणि कार्तिक जी की ।

अगले स्पीकर थे @WCAhemdabad के आर्गेनाइजर @iamparthpandya पार्थ जे पंड्या जी जिन्होंने बताया कैसे हम सोशल मीडिया का प्रयोग कर के भी क्लाइंट के साथ एक रिलेशनशिप बना सकते हैं और बिज़नेस गेन कर सकते हैं । “गुड मॉर्निंग ,हेलो बाए -फूलों के साथ ” जैसे पोस्ट से बेहतर है आप अपने क्लाइंट को कॉम्पलिमेंट करे या सहानुभूति दें ।उन्होंने ने रिलेशनशिप के ३ स्टेज बताये आत्मीयता,खोज और मान्यता ।अंत में उन्होंने अहमदाबाद वर्डकेम्प में आने का सबको बुलावा दिया और प्रॉमिस किया की वो आपको अच्छा गुजरती खाना खिलाएंगे ।

फिर समय हुवा चाय पकोड़ा सेशन का । तरह तरह के पकोड़ों के बीच ही फ्री गिफ्ट्स बटना शुरू हो गए और हमने भी अपना हक़ ले लिया ।

वापस आये तो @wcnagpur के आर्गेनाइजर @fitehal अभिषेक देशपांडे जी से चर्चा हुई के एक नॉन टेक व्यक्ति जिसे कोडिंग नहीं आती वो लैंग्वेज कैसे सिख सकता है ? और उपाय था www.w3schools.com|

मंच एक बार फिर से सज गया था और इस बार मोर्चा संभाला था महिलाओं ने ।@twilightfairy प्रियंका सचर जी ,@freelancingwhiz तूलिका किरण जी , @tibetanitech सेटें डोलकर जी ,@savitas सविता सोनी जी । इन सब ने अपनी फ्रीलांसिंग से इंटरप्रेन्योर बनने की यात्रा का विवरण दिया । कैसे वो अपनी वर्क लाइफ बैलेंस करती है ,क्यों उन्होंने डिजिटल करियर चुना और कैसे वर्डप्रेस ने उन्हें वो मुकाम दिया जहाँ पर वो आज हैं ।

वहीं चाय के समय पता चला की हॉल २ में ओपन सेशंस हुवे जिनमे आपस में डेवेलपर्स ने डिसकस किया की कैसे वो अपनी डेवलपमेंट स्किल्स को और सुधर सकते हैं ।हर किसी ने एक दूसरे को अपने ज्ञान और तजुर्बे साझा कर के इवेंट को सफल बनाया ।

हॉल २ में आखरी स्पीकर थे @ajitbohra अजीत बोहरा जी जिन्होंने बहुत ही दिलचस्प स्पीच दी कैसे हम वर्डप्रेस की दिनचर्या निर्धारित कर सकते है ।कौन से थीम ,प्लगइन ,सर्वर और मेंटेनेंस साइट पर करना चाहिए जिससे की आपकी वर्डप्रेस साइट स्वस्थ रहे ।

कहते हैं अंत भला तो सब भला इसीलिए वर्डकेम्प दिल्ली में आखरी स्पीकर थे @denharsh हर्ष अग्रवाल जी ,@shoutmeloud शाउट मी लाऊड के फाउंडर और ब्लॉगर ।एक ब्लॉग साइंटिस्ट और SEO एक्सपर्ट ।उनकी सफलता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है की उन्होंने पिछले महीने ब्लॉगिंग से करीब ३४ लाख रुपये कमाए ।

हर्ष ने बताया कैसे आप अपने ब्लॉग में विजिटर बढ़ा सकते हो ,गूगल में अपनी साइट को पेज १ पर ला सकते हो और कैसे ब्लॉग से पैसे कमा सकते हो ।

अंत में सभी का धन्यवाद् हुवा और सब अपने अपने गंतव्य की ओर बढ़ चले ।

वर्डकेम्प दिल्ली अभी भी दिल में बसा हुवा है और सभी ज्ञानियों से जो सीखा है वो असल जिंदगी में उतारने की ललक है  । हम हैं राही वर्डप्रेस के फिर मिलेंगे किसी और कैंप में ।

वर्डप्रेस कानपूर के बारे में जानने के लिए क्लिक करे इस ब्लॉग पर |http://digitalgaurav.in/2017/07/14/

सुझाव और टिप्पड़ियों का इन्तजार है ।

गौरव श्रीवास्तव(https://twitter.com/digitalgauravdm )

नोट : ( ) में सम्बंधित व्यक्ति का ट्विटर हैंडल दिया हैं | आप भी अपने पसंद के व्यक्ति से जुड़ सकते हैं !

 

 

 

Posted on

9 बेस्ट ऑनलाइन डिजिटल जॉब्स जिनसे घर बैठ कर भी होती है अच्छी कमाई |

digital marketing job

digital marketing job

1.वर्चुअल असिस्टेंट

आंत्रप्रन्योर्स, प्रफेशनल्स और छोटी टीमों को अलग-अलग ऐडिमिनिस्ट्रेटिव टास्क के लिए अक्सर मदद की जरूरत पड़ती रहती है। इनमें मीटिंग शेड्यूल करना, ग्राहकों और निवेशकों से संपर्क में रहना, ऑर्डर्स पर नजर रखना, पावरपॉइंट प्रजेंटेशनों और एक्सल शीट्स जैसे बिजनस डॉक्युमेंट्स तैयार करना, ब्लॉग और वेबसाइट मैनेज करना आदि शामिल हैं। वर्चुअल असिस्टैंट्स (VAs) ऐसे क्लायंट्स के साथ काम करके उन्हें उनके बिजनस में मदद करते हैं। VA बनने के लिए आपको कुछ ट्रेनिंग या ब्रीफिंग की जरूरत पड़ सकती है। यह आपके क्वॉलिफिकेशन पर निर्भर करता है। हालांकि, अगर आप बातचीत में निपुण हैं और एमएस ऑफिस जैसे ऐप्लिकेशन यूज कर सकते हैं तो आप https://www.upwork.com/?r और https://www.zirtual.com/ जैसी साइट्स पर साइन अप कर अपने लिए जॉब ढूंढ सकते हैं।

कमाई- 500 से 4000 रुपये प्रति घंटा

 

2.अनुवादक

अगर एक से ज्यादा भाषा पर आपकी पकड़ है तो आप घर बैठे अच्छा पैसा कमा सकते हैं। आप अंग्रेजी के साथ-साथ किसी भारतीय भाषा में अच्छे हैं तो आपके लिए संभावनाओं के द्वार खुले हैं। आप बस एक लैंग्वेज कोर्स कर लीजिए, फिर कमाई ही कमाई।

कई देशों में काम करनेवाली कंपनियों के साथ-साथ स्कॉलर्स और ऑथर्स अनुवाद की जरूरतों के लिए आपको ढूंढेंगे। आप https://www.fiverr.com/ या Upwork.com जैसी साइटों पर जाकर आप उन भाषाओं में अनुवाद की मांग कर सकते हैं जिनमें आपकी निपुणता है।

कमाई- प्रति शब्द 20 पैसे से लेकर (कुछ खास भाषाओं के लिए ) 10 रुपये

 

3.ब्लॉगिंग

पिछले दशक से ब्लॉग मॉनिटाइजेशन जोर पकड़ रहा है। ब्लॉग मॉनिटाइज करने के लिए आप गूगल ऐडसेंस साइन कर सकते हैं जो आपको अपने ब्लॉग पर लगाने के लिए ऐड देगा। आपका अकाउंट अप्रूव्ड हो जाने पर आपको लगातार ऐड मिलते रहेंगे और कुछ-न-कुछ कमाई होती रहेगी। ऐडसेंस क्लिक्स और व्यूज के आधार पर मिले ऐड के लिए पैसे देता है।

इसके अलावा, आप अफिलिएट मार्केटिंग (दूसरे सेलर्स के प्रॉडक्ट्स का प्रमोशन) या प्रॉडक्ट सेल्स का रास्ता अपना सकते हैं। अगर आपके ब्लॉग पर बढ़िया ट्रैफिक है तो आप ब्लॉग स्पॉन्सर्स का चयन कर सकते हैं जिसमें आपके ब्लॉग पर ऐड स्पेस की बिक्री करता है। यह कुछ दिनों में स्थाई इनकम का जरिया बन सकता है।

कमाई- 2”x2” के ऐड से प्रति माह 2,000-15,000 रुपये तक। यह ब्लॉग की रीच और पॉप्युलैरिटी पर निर्भर करता है।

 

4.ऑनलाइन सेलिंग

आप चाहे शिल्पकार हों या फिर फैब्रिक्स की अच्छी समझ है तो आपके प्रॉडक्स के लिए मार्केट हो सकता है। अगर आपने फैसला कर लिया कि आपको बेचना क्या है तो थोक में वह सामान खरीद लें या खुद तैयार करें और बेचने के लिए ऐमजॉन, ईबे जैसे बड़े प्लैटफॉर्म से लेकरhttp://www.indiebazaar.com/ जैसे छोटे प्लैटफॉर्म पर रजिस्टर करें। ये पॉर्टल्स आपके सामान बेचने के कुछ पैसे लेंगे। ऑर्डर मिलना शुरू हो गया तो सामान डिलिवरी के लिए पैक कर दें। ऑर्डर कंप्लीट होने के सात दिनों के अंदर आपको पैसे मिल जाएंगे।

कमाई- प्रॉडक्ट और कीमत के आधार पर। पोर्टल फी के सिवा सारे पैसे आपके।

 

5.यूट्यूब चैनल

यूट्यूब लोकप्रिय तो है ही, इस्तेमाल के लिहाज से आसान भी है। अगर आप कैमरा फेस करने से घबराते नहीं हैं और विडियो कैमरे की अच्छी समझ है तो यह आपके लिए शानदार प्लैटफॉर्म साबित हो सकता है। आप कोई कैटिगरी या सब्जेक्ट चुन लीजिए और विडियो बनाना शुरू कर दीजिए। लेकिन, ध्यान रहे कि टॉपिक लोगों को लुभानेवाले हों।

खाना बनाने की कला से लेकर राजनीतिक बहस-मुबाहिसे तक, आप यूट्यूब पर कुछ भी परोस सकते हैं। विडियो रिकॉर्डिंग के लिए आपको प्रफेशनल इक्विपमेंट या प्रोपर सेटअप की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। इसके लिए बस आपको एक यूट्यूब चैनल क्रिएट करना होगा। जैसे-जैसे आपके चैनल के सब्सक्राइबर्स और विडियो देखनेवालों की तादाद बढ़ेगी, वैसे-वैसे आपकी कमाई भी बढ़ेगी। अगर आपका चैनल हिट हो गया तो ब्रैंड इंडोर्समेंट से लेकर इवेंट कवरेज तक,  http://youtube.comआपको कमाई के कई मौके देता है।
कमाई- प्रति 100 व्यूज पर 200-300 रुपये।

 

6.वेब डिवेलपर

क्या आप कोडिंग या वेब डिजाइन को समझते हैं? अगर हां, तो आप घर बैठे वेब डिवेलपर का काम शुरू कर सकते हैं। अगर आप इस काम में कच्चे हैं तो ऑनलाइन ट्यूटोरियल्स से मदद ले सकते हैं। अक्सर कंपनियां वेब डिवेलपमेंट का काम आउटसोर्स करती हैं। इसलिए, इसमें आसानी से काम मिल जाएंगे। हालांकि, ध्यान रहे कि फ्रीलांस डिवेलपरों की तादाद भी कम नहीं है। ऐसे में आपको प्राइसिंग के स्तर पर चुस्त-दुरुस्त होना पड़ेगा और अपनी अच्छी पहचान बनानी होगी।

कमाई- क्लायंट और जॉब के मुताबिक, एक प्रॉजेक्ट से ही 20 हजार से एक लाख रुपये तक।

 

7.कॉन्टेंट राइटर

फ्रीलांस वर्क सेगमेंट में एक शानदार काम कॉन्टेंट राइटिंग का भी है। गहरे रिसर्च के साथ अच्छे लेखन की हमेशा जबर्दस्त मांग रहती है। भर्तियां करनेवाले वैसे लोगों की तलाश में रहते हैं जो लोगों को अट्रैक्ट करनेवाले फ्रेश कॉन्टेंट तैयार कर सकते हैं। अगर ग्रामर पर आपकी अच्छी पकड़ है, आप लेखन से पाठकों को बांध लेते हैं और विभिन्न मुद्दों पर रिसर्च कर उनके बारे में लिखने के शौकीन हैं तो यह कॉन्टेंट राइटिंग का काम आपके लिए ही है। काम शुरू करने से पहले एक पेपाल अकाउंट खोलिए क्योंकि ज्यादातर क्लायंट इसी के जरिए पे करना पसंद करते हैं। अकाउंट खुलते ही Fiverr.com, Upwork.com, http://freelancer.in, Elance.com और http://worknhire.com जैसी साइटों पर साइन अप कर सकते हैं।

कमाई- शुरू-शुरू में 8 हजार से 10 हजार प्रति माह। अनुभवी लोग 20 से 25 हजार प्रति माह कमा सकते हैं।

8.डेटा एंट्री

हालांकि, इसमें ऑटोमेशन का जमाना आ रहा है। फिर भी भारत में डेटा एंट्री जॉब्स की अभी कोई कमी नहीं है। यह सबसे आसान ऑनलाइन जॉब है क्योंकि इसके लिए किसी खास स्किल की जरूरत नहीं होती है। आपके पास सिर्फ कंप्यूटर और इंटरनेट कनेक्शन होना चाहिए, अच्छी टाइपिंग स्पीड हो और डिटेल्स पर ध्यान केंद्रित कर सकें। ज्यादातर फ्रीलांसिंग वेबसाइट्स पर ऐसे जॉब्स लिस्टेड होते हैं। आप किसी भी साइट पर साइन अप कर काम शुरू कर सकते हैं। क्लायंट प्रिंटेड या स्कैंड डेटा देता है जिसे डिजिटल फॉर्मेट में एंटर करना होता है।

कमाई- 300 से 1,500 रुपये प्रति घंटा।

 

9.ऑनलाइन ट्यूटर

अगर आपको पढ़ाने का अनुभव है या किसी खास सब्जेक्ट एक एक्सपर्ट हैं तो आप ऑनलाइन ट्यूशन देकर कमाई कर सकते हैं। MyPrivateTutor.com, BharatTutors.com, tutorindia.net जैसी साइट पर अपना प्रोफाइल बनाएं और वहां विषयों, कक्षाओं, पढ़ाने के अनुभव, योग्यता आदि की जानकारी दें। आपके डीटेल्स चेक होकर अप्रूवल मिल जाए तो सेलेक्शन के लिए ऑनलाइन टेस्ट या टेलिफोनिक इंटरव्यू देना होगा। अगर आप अकैडमिक ट्यूशन नहीं ले सकते तो Udemy जैसा पोर्टल आपके काम का हो सकता है। यहां आप कुकिंग से लेकर योग तक की कक्षाएं ले सकते हैं।

कमाई- अनुभव नहीं हो तो 200 रुपये प्रति घंटा। लेकिन, एक्सपीरियंस और एक्सपर्टाइज के आधार पर 500 रुपये प्रति घंटा।

For any questions feel free to contact

  • Facebook-@digitalgaurav.in
  • Twitter- @digitalgauravdm
  • Website – www.digitalgaurav.in
  • Whatsapp – 9650801794
  • Like – Share – Subscribe – Comment